IND vs ENG: पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने कहा- इंग्लैंड के खिलाफ 3 स्पिनर उतार सकती है टीम इंडिया

नई दिल्ली: भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज की शुरुआत 5 फरवरी से होनी है. चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले जाने वाले इस मुकाबले को लेकर क्रिकेट प्रेमी से लेकर पूर्व दिग्गज भी उत्साहित हैं. पूर्व भारतीय ऑलराउंडर इरफान पठान इस सीरीज के दौरान कमेंट्री करते नजर आएंगे. इरफान ने एक इंटरव्यू  में दोनों टीमों के मजबूत और कमजोर पक्ष पर चर्चा की.

भारत के तेज गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया में काफी शानदार प्रदर्शन किया. सीनियर खिलाड़ियों के चोटिल होने के बाद नए मोहम्मद सिराज और शार्दुल ठाकुर जैसे नए गेंदबाजों का प्रदर्शन काफी शानदार रहा. घरेलू सीरीज में किन तेज गेंदबाजों को मौका मिलना चाहिए. इस सवाल पर पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान कहते हैं,’अगर इशांत शर्मा फिट हैं, पूरी तरह से रेडी हैं तो मुझे लगता है कि उनको पहले मैच से ही टीम में होना चाहिए.

वह बहुत सालों से भारतीय टीम के लिए काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, सीनियर खिलाड़ी भी हैं. बस बात यह देखने वाली होगी कि उनकी फिटनेस कैसी है. अगर अच्छी है तो वह जसप्रीत बुमराह के साथ शुरुआत करेंगे. जसप्रीत के साथ भी ऐसा ही है अगर फिटनेस अच्छी है तो फिर मेरे हिसाब से दोनों शुरुआत करेंगे.

रविंद्र जडेजा चोटिल हैं और इस टेस्ट सीरीज में नहीं खेलेंगे. ऐसे में भारत रविचंद्रन अश्विन के साथ किन स्पिनरों को उतार सकता है. इस सवाल पर इरफान ने कहा, ‘देखिए तीन स्पिनर भी आपको देखने को मिल सकते हैं, अगर कंडीशन वैसे मिला, ड्राई मिला तो दो तेज गेंदबाज और तीन स्पिनर आपको देखने को मिल सकते हैं. इसमें आपको दो ऑलराउंडर भी मिलेंगे एक अश्विन और दूसरे वॉशिंग्टन सुंदर. ऐसे में कुदलीप यादव की भी जगह बन सकती है.

मुझे अगर सवाल पूछा जाए के पांच गेंदबाज कौन होने चाहिए तो मैं तो इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह. अगर ये दोनों फिट हैं तो ये तेज गेंदबाज टीम में रहेंगे. इनके अलावा कुलदीप यादव, वॉशिंग्टन सुंदर जिन्होंने बल्लेबाजी काफी अच्छी की थी और अश्विन को आप प्लेइंग 11 में देख सकते हैं.’

भारत और इंग्लैंड के गेंदबाजी आक्रमण की तुलना पर इरफान ने कहा,’ मुझे लगता है कि इंग्लैंड के स्पिनर से ज्यादा तेज गेंदबाज कारगर साबित हो सकते हैं. भले ही हम बात कर रहे हैं कंडीशन की जो स्पिनर को मदद करती है. एंडरसन के पास अनुभव है, जोफ्रा आर्चर के पास रफ्तार है, ब्रॉड के पास भी काफी ज्यादा अनुभव है.

दोनों ने मिलकर इतनी सारी विकेटें हासिल की है. अगर आपके पास 1000 विकटों का अनुभव है तो दोनों मिलकर अपना अनुभव झोंक सकते हैं और अच्छा कर सकते हैं भारतीय कंडीशन में. मुझे लगता है कि उनके स्पिन डिपार्टमेंट से ज्यादा तेज गेंदबाजों पर ज्यादा से ज्यादा विकेट चटकाने का दारोमदार रहेगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *