नकली NIA बन कर गिरोह देता था धमकी, वसूलता था मोटी रकम

चंडीगढ़: पंजाब की मोहाली पुलिस ने एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है. यह गिरोह लोगों नेशनल जांच एजेंसी (एनआईए) ने नाम पर डरा कर पैसे वसूलता था. इसके साथ ही अपहरण और फिरौती मांगने के आरोप भी इस गिरोह पर हैं. पुलिस ने कुल छह लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है. पुलिस का दावा है कि गिरोह का सरगना भी पकड़ा गया है.

आरोपियों के नाम अमनदीप सिंह, योधवीर सिंह, मुख्तयार सिंह, राजवीर सिंह, गोबिंदर सिंह है जबकि उनके सरगना का नाम डोमिनिक है. अदालत ने उन्हें 6 फरवरी तक पुलिस रिमांड में भेज दिया है. पुलिस ने बताया कि मोहाली में सनम गर्ग के मोबाइल शॉप पर आरोपी एनआईए का अफसर बन कर गए थे. साथ ही उनपर अपहरण और फिरौती मांगने का भी आरोप है.

पुलिस ने सबसे पहले अमनदीप सिंह को गिरफ्तार किया था. उसके पास से पुलिस को स्कार्पियो गाड़ी, 32 बोर की पिस्टल और कारतूस बरामद हुए थे. उसी की निशानदेही पर पुलिस ने बाकी आरोपियों को गिरफ्तार किया. उनके पास के कई गाड़ियां और जाली आईकार्ड और जाली एफआईआर की कॉपी भी पकड़ी गई है. साथ ही अन्य कागजात भी मिले हैं.

यह गैंग अलग-अलग लोगों की पहले रेकी करता था. इसके बाद कभी एफआईआर की कॉपी दिखा कर तो कभी अधिकारी बन कर डराने का काम अलग-अलग सदस्यों की ओर से किया जाता था. लोगों से ये मोटी रकम भी वसूल लेते थे. यही नहीं नौकरी दिलाने का झांसा और विदेश भेजने के नाम पर भी गिरोह पैसे की उगाही करता था. अभी सभी से पूछताछ हो रही है.

खास बात यह है कि आरोपी काफी पढ़े लिखे हैं. साथ ही गिरोह में रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी भी शामिल हैं. पुलिस का कहना है कि सभी आरोपियों से अलग-अलग पूछताछ की जा रही है. पुलिस को उम्मीद है कि कुछ और शिकायतें भी आ सकती हैं. यह अंदाजा भी लगाया जा रहा है कि इस पूरे मामले में अभी गिरफ्तारियां हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें: 

भोजपुरी अभिनेता की भांजी की दहेज हत्या, बुलेट मांग रहे थे आरोपी

सभी सीमाओं की हुई ‘किलेबंदी’, धरना स्थल के पास जमीन पर गाड़ी गईं कीलें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *